आखिर क्यों कोरोना वायरस से भी खतरनाक है ‘जाति वायरस’?Top Stories

आखिर क्यों कोरोना वायरस से भी खतरनाक है ‘जाति वायरस’?

भारतीय समाज जातिवाद नामक महामारी को सदियों से ढोते चला आ रहा है. यह एक ऐसी बीमारी है, जो इस…

वित्त मंत्री के पिटारे में लॉकडाउन और प्रकृति की दोहरी मार खा रहे किसानों के लिए क्या?Top Stories

वित्त मंत्री के पिटारे में लॉकडाउन और प्रकृति की दोहरी मार खा रहे किसानों के लिए क्या?

जब प्रशासन ने कहा कि मंडी खुल गई है तो एक 1 महीने से लॉकडाउन खुलने के इन्तजार में बैठे सुमेर…

मजदूरों की यथास्थिति के लिए सरकार के साथ ही हम भी कम जिम्मेदार नहीं…Top Stories

मजदूरों की यथास्थिति के लिए सरकार के साथ ही हम भी कम जिम्मेदार नहीं…

मैं और मेरा परिवार भी प्रवासी हैं। मेरे पिताजी राज्य सरकार की एक सेवा इकाई में कार्यरत हैं और अपना…

जिन्हें नाज़ है हिन्द पर वो कहां हैं?Top Stories

जिन्हें नाज़ है हिन्द पर वो कहां हैं?

‘‘क्या यह सच है? यह मध्य युग नहीं है बल्कि 20वीं सदी है। कौन ऐसे अपराध को होने दे सकता…

घर लौट रहे Migrant Workers से Railway ने वसूले 1050 रुपए, सरकार कह रही पैसे नहीं लिएTop Stories

घर लौट रहे Migrant Workers से Railway ने वसूले 1050 रुपए, सरकार कह रही पैसे नहीं लिए

सरकार और अलग-अलग पार्टियों के नेताओं के दावे और बातों के विपरीत प्रवासी मजदूर – बंगलुरू से दानापुर ~ (टिकट…

”कुर्सी है तुम्हारा जनाज़ा तो नहीं है, कुछ कर नहीं सकते तो उतर क्यों नहीं जाते”Top Stories

”कुर्सी है तुम्हारा जनाज़ा तो नहीं है, कुछ कर नहीं सकते तो उतर क्यों नहीं जाते”

  डियर नीतीश कुमार और सुशील कुमार मोदी यह लिखते हुए बहुत दुख हो रहा है कि दुनिया की सारी…

वर्ल्ड प्रेस फ्रीडम डे: इंडेक्स में हर साल दो पायदान नीचे खिसक रहा है भारत का स्थानTop Stories

वर्ल्ड प्रेस फ्रीडम डे: इंडेक्स में हर साल दो पायदान नीचे खिसक रहा है भारत का स्थान

मीडिया अर्थात् प्रेस को लोकतंत्र का चौथा स्तंभ कहा जाता है क्योंकि यह लोगों की जड़ों से जुड़ा साधन है.…

उल्टे कटोरे सी आंखों वाले ‘इरफ़ान’ का चला जाना और उनकी याद…Top Stories

उल्टे कटोरे सी आंखों वाले ‘इरफ़ान’ का चला जाना और उनकी याद…

विष्णु और सुमेर से बात करते हुए कितनी बार ऐसा कहा गया है कि आदमी कुछ गजब का लिख दे…

लॉकडाउन: क्या ऑनलाइन शिक्षा वंचित तबके के लिए अब भी किसी दूसरी दुनिया की बात है!Top Stories

लॉकडाउन: क्या ऑनलाइन शिक्षा वंचित तबके के लिए अब भी किसी दूसरी दुनिया की बात है!

आज पूरा विश्व कोविड -19 जैसी गंभीर महामारी से जूझ रहा है, दुनिया के कई देशों में लॉकडाउन है जिनमें…

कोरोना महामारी के बावजूद क्या बिहार में तय समय पर ही होगा चुनाव?Top Stories

कोरोना महामारी के बावजूद क्या बिहार में तय समय पर ही होगा चुनाव?

भारत में कोरोना लॉकडाउन का दूसरा चरण 3 मई को खत्म होना है. अभी तक ये साफ नहीं है कि…