इस महामारी में डॉलफिन्स ने मुझे बड्डे विश किया…मनोरंजन

इस महामारी में डॉलफिन्स ने मुझे बड्डे विश किया…

एक बात बताऊं, मैंने आजतक ना अपनी हाइट नापी है, ना वजन तोला है और ना ही कभी उम्र गिनी…

‘मैं अपने मां-बाप पर मुकदमा चलाना चाहता हूं’Top Stories

‘मैं अपने मां-बाप पर मुकदमा चलाना चाहता हूं’

अदालत में जज के सामने हत्या का दोषी एक बच्चा बैठा हुआ है. वह जज से कहता है: मैं अपने…

‘बिहार में का बा’ से वायरल होने वाली भोजपुरी गायिका Neha Singh Rathour की दिलचस्प बातेंबिहार

‘बिहार में का बा’ से वायरल होने वाली भोजपुरी गायिका Neha Singh Rathour की दिलचस्प बातें

  कैमूर की 23 साल की नेहा सिंह राठौर हाल ही में अपने गाए गाने ‘बिहार में का बा’ से…

क्या हिंदी फिल्मों में महिलाओं की भूमिका ज्यादातर सिर्फ संतुलन बनाने के लिए होती है?मनोरंजन

क्या हिंदी फिल्मों में महिलाओं की भूमिका ज्यादातर सिर्फ संतुलन बनाने के लिए होती है?

भारत जैसा देश, जहां समाज जाति, धर्म और लिंग (जेंडर) की बेड़ियों में बंधा है, वहां महिलाओं का फ़िल्मों में…

करणी सेना ने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के नाम पर रखा इस चौक का नामखबरें

करणी सेना ने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के नाम पर रखा इस चौक का नाम

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत को गुजरे 14 दिन हो गए हैं. लेकिन उनके बारे में बातें कम नहीं हो रही…

नसीर: कम संवाद वाली यह फिल्म हमें आइना दिखाकर स्तब्ध कर देती है…Uncategorized

नसीर: कम संवाद वाली यह फिल्म हमें आइना दिखाकर स्तब्ध कर देती है…

अजान हो चुका है, सुबह के छह बज रहे हैं, ताज अपने किचन में खाना बना रही है, इकबाल को…

उल्टे कटोरे सी आंखों वाले ‘इरफ़ान’ का चला जाना और उनकी याद…खबरें

उल्टे कटोरे सी आंखों वाले ‘इरफ़ान’ का चला जाना और उनकी याद…

विष्णु और सुमेर से बात करते हुए कितनी बार ऐसा कहा गया है कि आदमी कुछ गजब का लिख दे…

कुछ यूं रहा ‘तुम मुझे यूं भुला न पाओगे’ लिखने वाले बस कंडक्टर के गीतों का सफर…मनोरंजन

कुछ यूं रहा ‘तुम मुझे यूं भुला न पाओगे’ लिखने वाले बस कंडक्टर के गीतों का सफर…

सन 1940 में एक नौजवान रोजगार की तलाश में जयपुर से चलकर शहर-ए-बंबई में दाखिल होता है। नाम था इक़बाल…

सप्ताह भर का बोझ उतार सकने वाली फ़िल्म है Dream Girlदेश

सप्ताह भर का बोझ उतार सकने वाली फ़िल्म है Dream Girl

नौकरी के लिए लड़की की आवाज निकाल भर लेने और अंत में नाटकीय ढंग से मोरल देने (फिल्म के माध्यम…

World Photography Day विवियन मैएर : हमें दूसरों के लिए जगह बनानी ही होगीमनोरंजन

World Photography Day विवियन मैएर : हमें दूसरों के लिए जगह बनानी ही होगी

हमें दूसरों के लिए जगह बनानी ही होगी। यह एक चक्र है— आप चलते हैं और मंजिल तक पहुँचते हैं।…